लॉकडाउन के बीच RBI ने की रेपो रेट में सबसे बड़ी कटौती, सस्ता हो सकता है होम लोन

0 6

नई दिल्ली। कोरोनावायरस तथा उससे पैदा होने वाली बीमारी COVID-19 के आतंक के बीच भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने रेपो रेट में 75 आधार अंकों की कटौती कर दी है, और इसे 4.4 फीसदी पर ले आए हैं। माना जा रहा है कि अगर बैंक भी इसका लाभ ग्राहकों तक पहुंचाते हैं, तो होम लोन तथा अन्य ऋणों पर ब्याज दरें कम हो सकती हैं, जिससे आम आदमी को राहत मिलेगी। रेपो रेट के अलावा RBI ने रिवर्स रेपो रेट में भी 90 आधार अंक की कटौती की है, जो अब चार फीसदी पर पहुंच गया है।


बता दें, रिजर्व बैंक ने यह कदम सरकार की तरफ से गुरुवार को गरीबों, बुजुर्गों और महिलाओं के लिये 1.70 लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज घोषित किये जाने के एक दिन बाद उठाया है।

रिजर्व बैंक ने बैंकों के नकद आरक्षित अनुपात (CRR) में भी एक प्रतिशत की कमी की है जो कि घटकर तीन प्रतिशत रह गई। इन तमाम उपायों से अर्थव्यवस्था में 3.74 लाख करोड़ रुपये की नकदी बढ़ने का अनुमान है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि रिजर्व बैंक मिशन में रहकर काम कर रहा है। मौजूदा परिस्थिति में जो भी जरूरी होगा रिजर्व बैंक वह कदम उठायेगा। उन्होंने कहा कि मौद्रिक नीति समिति की बैठक पहले अप्रैल के प्रथम सप्ताह में होनी थी लेकिन मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुये इसे 25 से 27 मार्च के बीच कर दिया गया।

शक्तिकांत दास ने कहा कि सीआरआर में कटौती, रेपो दर आधारित नीलामी समेत अन्य कदम से बैंकों के पास कर्ज देने के लिए 3.74 लाख करोड़ रुपये के बराबर अतिरिक्त नकद धन उपलब्ध होगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...