शोध: मोबाइल के इस्तमाल से भी फैलता है Covid-19, जाने कैसे

0 13

रायपुर। कोरोना महामारी के बाद लगातार रिसर्च हो रहे है। हर बार अध्ययन में नहीं बातें निकल कर सामने आ रही है। ताजा रिसर्च के मुताबिक पता चला है कि मोबाइल के इस्तमाल से भी कोविड-19 वायरस का प्रसार हो सकता है।  इसी वजह से डॉक्टरों ने इसे लेकर चेतावनी जारी की है। यहां तक की रायपुर स्थित एम्स के डॉक्टरों ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए अस्पताल में मोबाइल के इस्तेमाल पर पाबंदी लगाने की मांग तक की है।

बीएमजे ग्लोबल हेल्थ जर्नल में प्रकाशित एक लेख में डॉक्टरों ने कहा कि मोबाइल फोन की सतह एक विशिष्ट “उच्च जोखिम” वाली सतह होती है जो सीधे चेहरे या मुंह के संपर्क में आती है। भले ही हाथ अच्छे से धुले हुए क्यों न हों। अध्ययन में यह भी पाया गया कि कुछ स्वास्थ्यकर्मी हर 15 मिनट से दो घंटे में अपने फोन का इस्तेमाल करते हैं। यह लेख समुदाय एवं परिवार चिकित्सा विभाग के डॉ। विनीत कुमार पाठक, डॉ। सुनील कुमार पाणिग्रही, डॉ। एम मोहन कुमार, डॉ। उत्सव राज और डॉ। करपागा प्रिया पी ने लिखा है।

पिछले महीने 22 अप्रैल को प्रकाशित लेख के मुताबिक भारत में 100 फीसदी स्वास्थ्यकर्मी मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन सिर्फ 10 फीसदी ही साफ करते हैं। डॉक्टर विनीत पाठक का कहना है कि सबसे सुरक्षित तरीका यह मानकर चलना है कि आपका फोन आपके हाथ का ही विस्तार है, इसलिए याद रखिए कि आपके फोन में जो है वह आपके हाथ पर हस्तांतरित हो रहा है।

प्रकाशित लेख के मुताबिक स्वास्थ्य देखभाल परिदृश्य में चेहरे, नाक और आंखों के सीधे संपर्क में आने की वजह से मोबाइल फोन शायद मास्क, कैप और चश्मों के बाद दूसरे स्थान पर हैं। हालांकि अन्य तीन की तरह मोबाइल को धोया नहीं जा सकता, इसलिए उनके संक्रमित होने का खतरा ज्यादा होता है। मोबाइल फोन की वजह से हाथों के साफ होने के भी बहुत मायने नहीं रह जाते…इस बात के प्रमाण बढ़ रहे हैं कि मोबाइल रोगजनक विषाणुओं के लिए संभावित वाहक हैं।

Also Read: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा- पब्लिक प्लेस में थूकने और तंबाकू की बिक्री पर लगे बैन

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...