भारतीय मूल के वैज्ञानिक की बड़ी उपलब्धि, बने अमेरिका के NIFA के कार्यवाहक निदेशक

0 4

वाशिंगटन। भारतीय लोगों में प्रतिभा की कमी नहीं है, वह दुनिया के जिस भी देश में हों, वहां अपने हुनर का लोहा मनवा लेते हैं। इसी क्रम में अमेरिका में भारतीय मूल के एक और शख्स ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है। दरअसल भारतीय मूल के अमेरिकी वैज्ञानिक डॉ पराग चिटनीस को अमेरिका ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फूड एंड एग्रीकल्चर का कार्यवाहक निदेशक नियुक्त किया गया है।

अमेरिका में एनआईएफए काफी प्रतिष्ठित संस्थान है और यहां के सभी केंद्रीय वित्त पोषित कृषि अनुसंधान इसी संस्थान की निगरानी में होते हैं। पराग चिटनीस को इसी वर्ष की शुरुआत में ‘प्रोग्राम्स’ का सहायक निदेशक बनाया गया था। पराग से पहले एनआईएफए के निदेशक डॉ स्कॉट एंजल थे।

डॉक्टर पराग चिटनीस के बारे में बात करें, तो वह एक भारतीय मूल के वैज्ञानिक हैं और उन्होंने भारती कृषि अनुसंधान संस्थान से एमएससी की पढ़ाई पूरी की थी। उन्होंने अपना एमएससी आनुवांशिक विज्ञान और जीव रसायन में किया है। इसके अलावा उन्होंने लॉस एंजिलिस के कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से जीव विज्ञान में पीएचडी भी की है।

यह भी पढ़ें : अफगानिस्तान में कोरोना का कहर, 70 फीसदी सांसद हो चुके हैं संक्रमित

पराग के बारे में कहा जाता है कि उन्होने एनआईएफए की लगभग 1.7 अरब डॉलर की अनुसंधान परियोजनाओं को आगे बढ़ाया है। वहीं अमेरिका के कृषि मंत्री सोनी पेरड्यू ने एनआईएफए के कार्यवाहक निदेशक के पद पर डॉ चिटनीस के नाम की घोषणा करते हुए कहा है कि निदेशक कार्यालय को डॉ चिटनीस के 31 वर्ष से ज्यादा समय के वैज्ञानिक अनुसंधान और अनुभव का लाभ मिलेगा। डॉ चिटनीस ने महाराष्ट्र के कोंकण कृषि विश्वविद्यालय से वनस्पति विज्ञान में बीएससी किया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...