Zoom ऐप पर सुरक्षित नहीं डाटा, अगर आप भी करते हैं इस्तेमाल तो पढ़ लें गृह मंत्रालय की एडवाइजरी

0 16

नई दिल्ली। भारत में जब से लॉकडाउन का ऐलान हुआ है, उसके बाद से वीडियो कॉल और कॉन्फ्रेंस कॉल का इस्तेमाल बढ़ गया है। इस दौरान लोग जूम (Zoom) वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप का इस्तेमाल बहुत कर रहे है। इस बीच गृह मंत्रलाय ने कहा है कि ये ऐप सुरक्षित नहीं, अगर इसका इस्तेमाल करना है तो कुछ सावधानियों के साथ करें।

मंत्रालय ने कहा है कि अगर कोई व्यक्ति इसका इस्तेमाल कर रहा है तो कुछ जरूरी बातों का खयाल रखें और पासवर्ड बदलते रहें। वीडियो कॉन्फ्रेंस कॉल में भी किसी को अनुमति देने से पहले सावधानी बरतें।

बेचा जा रहा डाटा

ब्लीडिंग कंप्यूटर की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक 5 लाख से ज्यादा जूम अकाउंट को डार्क वेब में बेचा जा रहा है। कई जगहों जूम यूजर्स का डेटा तो फ्री में ही दिया जा रहा है। इनमें यूजरनेम, पासवर्ड और यूजर द्वारा दर्ज की कई जानकारियां शामिल हैं।

गृह मंत्रालय ने ऐप के लिए दिए ये सुझाव

– हर मीटिंग के लिए नई यूजर आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल करें।

– ज्वाइन ऑप्शन को डिसऐबल कर दें।

– वेटिंग रूम को एनेबल करें, ताकि कोई अन्य यूजर तभी कॉल में शामिल हो सके जब कॉन्फ्रेंस करने वाला अनुमति दे।

– स्क्रीन शेयरिंग का ऑप्शन सिर्फ होस्ट के पास हो।

– फाइल ट्रांसफर के ऑप्शन का कम इस्तेमाल करें।

– किसी व्यक्ति के लिए रिज्वाइन का ऑप्शन बंद रखें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...